World Famous

Stephen Hawking Ke Prernadayak Brahmand Ke Sidhhant


Hello Friends ,


                          दोस्तों आज मै आपको जिनके बारे में बताने जा रहा हूं , उनको आप भी बहुत अच्छी तरह और तरीके से जानते होंगे,

जी हाँ दोस्तो मै बात कर रहा हूँ उस व्यक्ति के बारे में जो ना ही बोल सकते है , ना ही चल - फिर सकते है , और ना ही और कुछ करने की हालत में है...

लेकिन फिर भी इस व्यक्ति ने समय यात्रा , ब्लैक - होल ओर भी ऐसी अविश्वसनीय बातों को सबके सामने रखा और समझाया है कि दुनिया भौचक्की रह गई है।।

दोस्तों मैं बात कर रहा हूँ मशहूर वैज्ञानिक और प्रोफेसर Stephen Hawking के बारे में,
जी हाँ दोस्तो उनकी थियोरिस की हम थोड़ी देर में बात करेंगे उससे पहले उनके बारे में थोड़ा सा जान - पहचान कर लेते है ...


दोस्तों Stephen Hawking का जन्म 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफोर्ड - इंग्लैण्ड में हुआ था।
विश्वयुद्ध का ये समय काफी कठिन था, दोस्तो उनकी रुचि उस विषय मे ज्यादा थी जिसमे 70% लोग पहले ही दूर हो जाते है, जी हाँ दोस्तों मैं बात कर रहा हूँ गणित की।

दोस्तो Stephen Hawking बचपन से ही बुद्धिमान थे और कहा जाता है कि कुछ कबाड़ के उपकरणों को मिलाकर ही उन्होंने एक कम्प्यूटर बना दिया था...


दोस्तो असली शुरुआत उनके जीवन की कठिनाइयों की तब शुरू हुई जब छुट्टियों के दौरान वो ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से घर आये थे , और अचानक जमीन पर गिर गए।
दोस्तों उनके शरीर को ऐसी बीमारी ने जकड़ लिया था जिसका इफेक्ट उन्हें धीरे - धीरे पता चला ।

और सभी को पता है कि उन्हें एक कम्प्यूटरीकृत व्हील चेयर का सहारा लेना पड़ा, क्योकि उसी मशीन द्वारा जो वो सोचते है उनके दिमाग और शारीरिक कम्पन को पढ़कर वो कम्प्यूटरीकृत मशीन लोगो को स्क्रीन पर शब्द दिखा देती है...
दोस्तो डॉक्टर्स का कहना था कि Stephen अब ज्यादा नही जी पाएंगे ,

पर देखिये Stephen Hawking की Will Power का नतीजा की उन्होंने मौत को भी मात दे दी।


दोस्तो आज सारी दुनिया उन्हें उनकी थियोरिस के कारण पहचानती है क्योंकि Stephen Hawking के कहे गए तथ्य वास्तव में एक प्रूफ ऑफ पॉइंट के साथ कहे गए है,
आइये दोस्तो हम आपको उनके रहस्यमय ओर रोमांचक Facts पर ले जाते है ....

1.
Time Travel ( समय यात्रा ) ::----
                                                 दोस्तों Stephen Hawking ने समय यात्रा के लिये एक ऐसी बात बताई है जो कि हमारी सोच से भी कही आगे है, जी हाँ दोस्तों उन्होंने एक ऐसे ट्रेक की बात की है जो कि पूरी पृथ्वी के चारो और बना हो,
Stephen Hawking Ke Prernadayak Brahmand Ke Sidhhant
Stephen Hawking Ke Prernadayak Brahmand Ke Sidhhant


और जिस पर जो भी गाड़ी चले उसकी स्पीड , रोशनी की गति के बराबर हो, इसका मतलब समझे दोस्तों की उस गाड़ी या ट्रेन की स्पीड कितनी होगी ,
Stephen Hawking आगे कहते है कि उस ट्रेन में बैठे व्यक्ति फ्यूचर में तो जा सकते है , परन्तु वापिस लौट नही सकते
यानी ये फ्यूचर का वन - वे टिकट होगा,

‌अब ये काम कैसे करेगा , की जब वो ट्रेन रोशनी की गति पर पहुँच जाएगी और 1 सैकण्ड में पृथ्वी के 7 चक्कर लगाने लगेगी तो ट्रेन में बैठे व्यक्तियों का टाइम बिल्कुल स्लो या कम हो जाएगा और उनके मुकाबले पृथ्वी का वक़्त बहुत ही फ़ास्ट या जल्दी बीतता हुआ नजर आएगा , और जब वो ट्रेन 1 Week के बाद रुकेगी तब पृथ्वी पर 100 साल गुजर चुके होंगे ,
‌और वो यात्री फ्यूचर में पहुँच चुके होंगे...


2.
1000 सालों में धरती को छोड़ना होगा ::------😢
                                                                जी हाँ दोस्तो Stephen Hawking का कहना यही है कि कुछ ऐसे हालत 1000 साल बाद हो जाएंगे जिससे कि पृथ्वी इन्सानो के रहने लायक नही होगी,
दोस्तों ये कहने के पीछे भी उनके तथ्य है और वो रियल है,
वो इस प्रकार है ::---

1.
14 नवम्बर 2016 को लन्दन में एक प्रोग्राम के दौरान उन्होंने कहा कि आज हर देश के पास न्यूक्लिअर वेपन्स है , और चाहे वो हमने अपनी सुरक्षा के लिये बनाये है , लेकिन वो घातक है।

क्योकि जिस दिन एक भी देश ने न्यूक्लिअर मिसाइल छोड़ी उस दिन पूरी धरती का अंत समझ लेना, क्योकि कहने का मतलब ये है कि जब एक देश मिसाइल लॉन्च करेगा तो दूसरा उसको देखता थोड़ी रहेगा,
और Stephen ने ये भी कहा कि आज की तुलना में जो नागासाकी और हिरोशिमा पर जो मिसाइल उस वक़्त गिराई गई थी वो सिर्फ एक उदाहरण भर था...


2.
दूसरा तथ्य उन्होंने ये दिया कि चाहे हम प्रदूषण नियंत्रण रखें पर फिर भी कई दूसरे कारणों से धरती का औसत तापमान तो बढ़ना ही है , ओर उससे जीवन डायरेक्टली खत्म तो नही होगा, परन्तु उस बढ़ते तापमान से ग्लेशियर पिघलेंगे और उनसे समुन्द्र का लेवल ऑटोमेटिक बढ़ने लगेगा, और दुनिया का विनाश निश्चित है।

अब अगर ये थोड़ा और साल बाद होता तो भी हम मनुष्यो ने उसे कई कारणों से जल्दी होने पर मजबूर कर दिया है।
दोस्तो प्रकर्ति के साथ चलो उससे आगे बढ़ोगे तो हमेशा के लिये पीछे हो जाओगे।।




3.
तीसरी बात Stephen द्वारा ये कही गई है की A.I ( आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस ) के द्वारा मनुष्य खुद अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मारने जैसा काम कर रहा है, क्योकि चाहे अभी उतने इंटेलिजेंट रोबोट्स हम नही बना पा रहे है, परन्तु भविष्य में इन्हें और काम मे लेने के लिये ये और ज्यादा हाईटेक बनाये जाएंगे जो कि हमारी ही तरह सोचने वाले रोबोट्स होंगे।
दोस्तो आप सोच ही सकते हो कि जब मशीने हमारी तरह सोचने लग जाएगी तो वो हमारा क्या हाल करेंगी,

इसलिये दोस्तो Stephen Hawking के अनुसार मानव सभ्यता को बचाने का एक मात्र तरीका है और वो है Space Colonization , इसके तहत अंतरिक्ष मे मानव द्वारा कुछ बड़ी कॉलोनियां स्थापित की जाए , 
Stephen Hawking Ke Prernadayak Brahmand Ke Sidhhant
Stephen Hawking Ke Prernadayak Brahmand Ke Sidhhant


जिसमें लोगो को वही बसाया जाए।।


दोस्तो Stephen Hawking ने तर्क और तथ्यों के साथ उनकी सोच को उन्होंने पेश किया है...

दोस्तो कभी हार मत मानिये, क्योकि किसी के साथ कभी भी कैसी भी घटना हो सकती है ,
चाहे वो अच्छी हो या बुरी, इसलिये हमेशा तैयार रहो।।


Friends आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं,

Please Press Pink Bell Icon For Subscribe My Website....

आपने Time निकालकर ये आर्टिकल पढ़ा, उसके लिये आपका धन्यवाद ...☺💐




Previous
Next Post »

Worlds Famous Person