World Famous

Tibet Ki Rahasyamai Ghati Shangri-la Jo Duniya Me Nahi Hai



Hello Friends  🤗🕵👨,


                                         क्या आप गायब होना चाहते है , या फिर समय को रुका हुआ देखना चाहते है , तो जुड़े रहिये हमारे इस आर्टिकल से ,

                                         दोस्तो आज मैं आपको पृथ्वी की उस जगह के बारे में बताने जा रहा हूँ , जहाँ अगर आप गए तो गायब हो जाओगे और लौट के नही आओगे ,

दोस्तो ध्यान रहे , यहाँ लौट के ना आने से मेरा मतलब मरने से नहीं है ,

जी हाँ दोस्तो , मैं बात कर रहा हूँ उस रहस्यमय घाटी की जिसे हम " शंगरीला घाटी " के नाम से जानते है , दोस्तो भारत के अरुणाचल प्रदेश और तिब्बत की सीमा पर स्थित है ये घाटी ,

Tibet Ki Rahasyamai Ghati Shangri-la Jo Duniya Me Nahi Hai
Tibet Ki Rahasyamai Ghati Shangri-la Jo Duniya Me Nahi Hai



दोस्तो यहाँ आप इस घाटी को ऐसे ही नही देख सकते , उसके लिये बड़े तप की आवश्यकता होती है , चीन की सेना का एक कारण यह भी है भारत पर हमला करने का ,

क्या आपको पता है दोस्तो चीन की सेना अपना पूरा तकनीकी जोर लगा चुकी है , इस घाटी को तलाशने में लेकिन ये उन्हें आज तक नही मिली ।

दोस्तो जब अगले की इजाजत ही नही तो आप कैसे वहाँ बिन बुलाए पहुँच सकते हो ,

मुझे पता है दोस्तो आप थोड़े कन्फ्यूज हो रहे होंगे , दोस्तो कन्फ्यूजन की कोई बात नही है ,

हम आपके सारे संशय अभी दूर किये देते है ,

दोस्तो इस घाटी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी तो आपको        " काल - विज्ञान " नाम की पुस्तक ही दे सकती है , जो कि इस समय तिब्बत के तवांग मठ में सुरक्षित रूप से रखी गई है ,

दोस्तो उस काल - विज्ञान में समय की धारा को कई आयामों में बांटा गया है , और पूरा विश्व वास्तव में उन्ही समय आयाम पर टिका है ,

जैसे :-
 पानी , पर्वत , पहाड़ , पेड़- पौधे हम मनुष्य और सम्पूर्ण प्रकृति इन्ही आयामों पर कार्यरत है जिसका टाइम फिक्स होता है कि किसे कब क्या करना है और क्या नही ,
जैसे पानी का बहना , पेड़ और पौधों का बढ़ना सब कुछ ,


लेकिन दोस्तों ये सारे आयाम नगण्य हो जाते है उस शंगरीला घाटी में ,

जी हाँ दोस्तो समय का इस घाटी पर कोई जोर नही , कहने का मतलब है कि यदि कोई व्यक्ति या कोई भी जीवित प्राणी अगर उस घाटी में चला जाये तो वो वहाँ उपस्थित समय के तीसरे आयाम में दाखिल हो जाता है , जहा उस प्राणी के मन , श्वसन और आयु बहुत धीरे धीरे बढ़ते है ,

क्योकि जब आयु ही नही बढ़ेगी तो व्यक्ति कई सालों तक जीवित रह सकता है ,

दोस्तो वहाँ जाते ही व्यक्ति की सत्ता का अस्तित्व पृथ्वी से पूर्णतया समाप्त हो जाता है,

और वो पृथ्वी के वातावरण में वापिस कब आये ये कह नही सकते ,

बात सीधी सी और सरल है दोस्तो की यदि आप वहाँ गए और कुछ मिनट रुक भी गए और पुनः पृथ्वी पर आते है , तब तक पृथ्वी पर कई साल बीत चुके होंगे ,

शंगरीला घाटी के कुछ पल आपको पृथ्वी के नगर के नगर परिवर्तन हो जाये इतने वक़्त के बराबर है ,

तो आखिर इस घाटी पर कौन आ जा सकता है , तो दोस्तों इसका जवाब है , सिर्फ वही व्यक्ति इस घाटी को देख और जान सकते है जो कि अध्यात्म से जुड़े हो ,

जो उच्च स्तर के योगी हो , वो चाहे किसी भी तरह के योग या तंत्र विद्या में महारत हासिल किए हुए हो , सिर्फ वही लोग यहाँ जा सकते है ,

क्योकि यहाँ आप कई वर्षों तक जवान ही रहेंगें ,

दोस्तो जो आस पास के गाँवो के लोग है उनका कहना है कि यहाँ आज भी वो योगी अपना आश्रम बनाकर रहते है जिनसे आद्य - शंकराचार्य जी ने भी दीक्षा ली थी ,

और समय - समय पर वो बाहर आते भी है और बाहर अपने शिष्यों को दर्शन देते है ,

दोस्तो कहा जाता है कि यहाँ सिद्ध रहते है , वो सिद्ध ही हर किसी को इस घाटी में प्रवेश की अनुमति नहीं देते है ,

दोस्तो ये सिद्ध , बौद्ध लामाओं की एक ऊँचे दर्जे के वो योगी है जो लामाओं से भी ज्यादा आध्यात्म में ऊंचा दर्जा पाये हुए है ,

कहते है , जब वो सिद्ध चाहे तब ही हम उस शंगरीला घाटी में प्रवेश कर सकते है ,

अब तो दोस्तो आप भी जान गए होंगे कि नॉर्मल व्यक्ति तो उस घाटी को देख तक नही सकता , और जो वास्तव में योगी है , सिर्फ वही वहाँ प्रवेश की अनुमति रखता है ।

Tibet Ki Rahasyamai Ghati Shangri-la Jo Duniya Me Nahi Hai
Tibet Ki Rahasyamai Ghati Shangri-la Jo Duniya Me Nahi Hai


दोस्तो यहाँ तीन मठ या आश्रम योग विद्या या आध्यात्म के केंद्र है ::----

1. सिद्ध विज्ञान आश्रम  ।।
2. योग सिद्धाश्रम          ।।
3. ज्ञान गंज मठ            ।।


दोस्तो शंगरीला घाटी में जन्म और मृत्यु का कोई प्रभाव नही होता है ,

एक घटना में आपको उस साधक के मुख से सुनी हुई बता देता हूँ , जो यहाँ प्रवेश कर चुके है ,

और वो साधक कहते है कि इस जगह सूर्य - चन्द्रमा की रोशनी का कोई अस्तित्व ही नही है ,

सिर्फ दूधिया रोशनी यहाँ दिखाई देती है , लेकिन उस रोशनी का भी पता नही लग पाया है कि वो कहाँ से आती है ,

दोस्तो उस शंगरीला घाटी में ऐसे योगी रहते है जो जहाँ चाहे वहाँ अपनी मर्जी से आ और जा सकते है , क्योकि वो सूक्ष्म शरीर को धारण करने की क्षमता रखते है ,

और ये शरीर आत्मा का ही एक स्वरूप या पार्ट होता है ,

इस घाटी को ऐसे ही सिद्ध पुरुषों और योगियों द्वारा प्रतिबंधित कर रखा है ,

दोस्तो पृथ्वी पर अध्यात्म का केन्द्र माने जानी वाली बस यही एक वो जगह है जहाँ वास्तव में व्यक्ति अध्यात्म के उस शिखर पर पहुँच जाता है जहाँ से वो समय पर तक नियंत्रण रख सकता है ,

दोस्तो इस जगह को दूसरी दुनिया का प्रवेश द्वार भी माना जाता है और ये कहा जाता है कि ये कोई बहुत बड़ी अध्यात्म की दुनिया है जहाँ समय का कोई अस्तित्व नही ,

ये स्थान कैलाश पर्वत के आस पास के क्षेत्र में बताया जाता है , जहाँ बड़े - बड़े साधक कई वर्षों तक एक ही उम्र में बने रहकर तप आदि करते है ।।



दोस्तो आपको हमारा ये रहस्यमयी आर्टिकल कैसा लगा , हमे कमेन्ट करके जरूर बताइयेगा ,


आप हमारे से जुड़े रहे इसके लिये , आप हमें नीचे दिए गए बॉक्स में ईमेल डालकर हमे सब्सक्राइब भी कर सकते है ,
जिससे आपको ईमेल द्वारा हमारे नये आर्टिकल की जानकारी मिल जाएगी ...


दोस्तो समय निकालकर आपने हमारे आर्टिकल को पढ़ा , उसके लिये धन्यवाद ☺☺ 🙏







Previous
Next Post »

Worlds Famous Person